पुत्र प्राप्ति के लिए आयुर्वेदिक उपाय Putra Prapti Ke Ayurvedic Medicine in Hindi

415

Putra Prapti Ke Ayurvedic Upay Medicine in Hindi – पुत्र हो या पुत्री दोनों ही प्रकृति के अनमोल उपहार है जिस घर में किलकारिया ना गूंजे वो घर सुना ही रहता है हर जोड़ा यही चाहता की उनके एक प्यारी संतान हो अगर आपके कोई संतान नही तो जाने क्या उपाय करे जिससे संतान सुख ले सके

पुत्र हो या पुत्री दोनों ही भगवान के वरदान है दोनों ही एक समान है उनमे कोई कमी है तो आपके दिए हुए संस्कार कम है इसलिए आप अपनी संतान को अच्छा खिलाये पिलाये और संस्कारो में कोई कमी ना रखे

सन्तान Kyo Nhi Hoti

Putra Prapti Ke Ayurvedic Medicine in Hindi
Putra Prapti Ke Ayurvedic Medicine in Hindi
  •  आप दोनों में से किसी एक में माँ- बाप बनाने वाले हार्मोन कम एक्टिव है
  • आपके सम्भोंग का टाइम सही नही होता है

Ayurvedic दवाई जो गर्भधारण में सहायक

बाज़ार में बहुत से प्रोडक्ट है जो संतान होने के दावा करते है  लेकिन उनमे सत्यता की कसोटी पर बहुत कम उतरते है इस लिए जो भी दवाई ले जाँच परख के ले

  • पुरुषो की उतेजना बढ़ाने के लिए 100-100 ग्राम सफ़ेद मुसली, शतावरी, अश्वंधा पाउडर ले, इनका कोई साइड इफ़ेक्ट नही है
  • महिला उतेजना बढाने के लिए 2 गोली योवनामृत और शिवलिंगी के बीज का पाउडर को 1 गिलास ढूध के साथ ले

Putra Prapti Ke Ayurvedic Upay

Putra Prapti Ke Ayurvedic Upay

आपको यह जरुर पता होना चाहिए पीरियड के बाद मे और पहले कोनसी दिन गर्भ ठहरता है इसके लिए पीरियड का सही टाइम होना चाहिए

  • आपके लड़के होने के आसार पीरियड शुरू होने के बाद में चौथी, छठी, 8वीं, 10वीं, 12वीं, 14वीं और 16वीं रात को सम्भोंग करने से होता है
  • जबकि पुत्री होने की संभावना पीरियड शुरू होने के बाद मे 5वीं, 7वीं, 9वीं, 11वीं, 13वीं तथा 15वीं को सम्भोंग करने से होती है

नोट:- आपको पीरियड गिनती एकदम सही होनी चाहिए 1घंटे आगे पीछे होते ही संतान नेचर बदल जाता है

आदर्श गर्भधारण कैसे हो

  • जिस रात आपने गर्भ धारण का चुने उस रात को आप तनाव मुक्त रहे
  • उस रात जितनी बार आप कर सके सम्भोंग करे कम से कम 2 या 3 बार तो जरुर करे
  • सम्भोंग करने बाद में भी लिंग को योनी में रखे जब तक अपने आप योनी से बाहर नही आ जाये और योनी को भी तुरंत साफ़ ना करे अगले दिन डायरेक्ट स्नान करे
  • गर्भधारण करना उससे 2 से 4 दिन पहले ना तो सम्भोंग और ना ही हस्त मैथुन करे जिससे शुक्राणुओं की प्रबलता बढ़ जाती है
  • सम्भोंग के समय स्त्री को पूर्ण संतुष्ट करे उसके लिए आप पहले को उतेजित करे

Putra Prapti Ayurvedic Mantra

||ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं ग्लौं देवकीसुत गोविन्द वासुदेव जगत्पते देहि मे तनयं कृष्ण त्वामहं शरणं गतः||

नोट:- संतान प्राप्ति के लिए आप संतान गोपाल मंत्र का 108 बार जप भी करे क्योंकि संतान देना भगवान् के अंतिम फेसला है